Phone or Chat consultation with Astrologer Santhoshkumar Sharma

राहु और केतु गोचर का आपकी राशि पर क्या प्रभाव पड़ता है?

आपकी राशि पर राहु, केतु गोचर का प्रभाव

Effect of Rahu Transit over Meena Rashi and Ketu over Kanya Rashi

30 अक्टूबर को राहु मेष से मीन राशि में और केतु तुला से कन्या राशि में प्रवेश करेगा। आप 18 मई 2025 तक इन राशियों में भ्रमण करेंगे। आइए अब जानते हैं कि इन छायाग्रहों के गोचर का संबंधित राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।


मेष राशि

मेष राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 12वें घर में और केतु 6वें घर में भ्रमण करेंगे।

पिछले कुछ समय से मानसिक समस्याओं और स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित आपके लिए यह गोचर कुछ राहत प्रदान करेगा। हालांकि, इस दौरान खर्च बढ़ना, आपकी इच्छा के बिना यात्राएं करना पड़ना होगा। विदेश यात्रा के बारे में प्रयास कर रहे लोगों के प्रयासों को कुछ बाधाओं के साथ सफलता मिलती है। विशेष रूप से जल्दबाजी में पड़ने से बचकर प्रयास करने से विदेश यात्रा के मामले में सफलता मिलती है। इस दौरान आपको स्वास्थ्य के मामले में कुछ सावधानियां बरतनी होंगी। विशेष रूप से अत्यधिक श्रम के कारण रीढ़ और गर्दन से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं आने की संभावना है। इसके अलावा, बिना बीमारी के डर और दुश्मनों को सोचकर नींद से दूर होने की संभावना है। छठे घर में केतु गोचर कुछ अनुकूल परिणामों के साथ-साथ नौकरी के मामले में कुछ समस्याएं देता है। आपके द्वारा किए जाने वाले काम में लापरवाही के कारण आपके वरिष्ठ अधिकारियों की नाराजगी का सामना करना पड़ेगा। इसके अलावा, आपके करियर में प्रतिस्पर्धियों की संख्या बढ़ने के डर के कारण आप मानसिक रूप से संघर्ष में पड़ जाएंगे। हालांकि, ये समस्याएं केवल सोच तक ही सीमित रहेंगी, लेकिन वास्तव में नौकरी में परेशानी देने वाली कोई समस्या नहीं होगी। आप अपने काम को ईमानदारी से पूरा करने से आपको आने वाली समस्याओं से बाहर निकलने में मदद मिलेगी।

वृषभ राशि

वृषभ राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 11वें घर में और केतु 5वें घर में भ्रमण करेंगे।

11वें घर में राहु का गोचर अत्यंत अनुकूल परिणाम देता है। इस दौरान आपकी आय बढ़ने के साथ-साथ आपके द्वारा किए गए निवेशों से भी अच्छी लाभ प्राप्त होते हैं। इस दौरान आपकी सोच फलती है और आप सफलता प्राप्त करते हैं। कोर्ट केस या अन्य विवादों में भी आप इस दौरान जीत हासिल करते हैं। साथ ही सामाजिक रूप से भी आपकी नाम और प्रतिष्ठा बढ़ती है। आपके द्वारा किए गए कार्यों में प्राप्त सफलताओं के कारण आप लोगों के साथ-साथ सरकार की भी पहचान प्राप्त करने का मौका मिलता है। व्यवसाय में भी इस दौरान अच्छी लाभ प्राप्त होती है, जिसके कारण आप पहले किए गए कर्जों से भी बाहर निकलते हैं। 5वें घर में केतु का गोचर फलस्वरूप आप अच्छी आध्यात्मिक प्रगति प्राप्त करते हैं। हालांकि, विलासों के कारण या अन्य आदतों के कारण आप अपनी रचनात्मकता से दूर हो सकते हैं। एक तरह से मानसिक रूप से एक प्रकार की जड़ता का शिकार हो सकते हैं। इस दौरान प्रेम संबंधों में अप्रत्याशित समस्याएं उत्पन्न होती हैं। मुख्य रूप से आपकी लापरवाही के कारण इन समस्याओं के आने की संभावना होती है। साथ ही आपके बच्चों के स्वास्थ्य के मामले में या उनकी पढ़ाई के मामले में आप सही ध्यान नहीं देंगे तो वे परेशानी में पड़ सकते हैं।

मिथुन राशि

मिथुन राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 10वें घर में और केतु 4वें घर में भ्रमण करेंगे।

राहु 10वें घर में भ्रमण करने के दौरान आपको अपने करियर में सफलता मिलेगी। हालांकि, नाम और प्रतिष्ठा के लिए अधिक मेहनत करना, परिवार या अन्य चीजों की उपेक्षा करना आपके परिवार में कुछ समस्याओं का कारण बन सकता है। इस दौरान आप उत्साह से काम करने के कारण करियर में उच्च शिखरों को छू सकते हैं, लेकिन आपका अहंकार या दूसरों या अपने सहकर्मियों को नीचा दिखाने वाला व्यवहार आपको सफल होने से रोक सकता है। इस गुण के कारण आपकी सफलताएं कई लोगों के लिए निशाना बन सकती हैं, और भविष्य में यह आपको समस्याएं भी दे सकती है, इसलिए अपनी सफलताओं पर गर्व न करके विनम्र रहना अच्छा है। इस दौरान आपको अपने करियर में कुछ चुनौतियों या संघर्षों का सामना करना पड़ सकता है। भले ही आप इनमें सफल हों, लेकिन ये संघर्ष आपको मानसिक रूप से परेशान कर सकते हैं। केतु के 4वें घर में गोचर के कारण आपका ध्यान अपने परिवार से दूर हो सकता है। यह आपकी नौकरी या अन्य समस्याओं के कारण हो सकता है। या आप अपने परिवार को भूलकर अपनी प्रतिष्ठा और सफलता के लिए काम कर सकते हैं, जिससे आपके परिवार के सदस्यों का गुस्सा हो सकता है। इसके कारण आपके बीच मतभेद हो सकते हैं। इसके अलावा, इस दौरान संपत्ति से संबंधित विवादों के कारण भी आप मानसिक रूप से परेशान हो सकते हैं। आपको खरीदी गई या विरासत में मिली संपत्तियों के मामले में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए लेनदेन के मामले में दस्तावेजों के बारे में सावधान रहना चाहिए।

कर्क राशि

कर्क राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 9वें घर में और केतु 3वें घर में गोचर करेंगे।

9वें घर में राहु गोचर के कारण इस समय विदेश यात्रा पर रुचि बढ़ेगी और इसके बारे में अधिक प्रयास करेंगे। हालांकि जल्दबाजी में सही अवसर के बिना इस समय विदेशों में जाना अच्छा नहीं है। इसके अलावा धर्म, राजनीति आदि विषयों पर अधिक बहस-विवाद में भाग लेना चाहिए ऐसा विचार बढ़ता है। इन विषयों पर आपके पास जो ज्ञान, समझ है उसे चारों ओर बताना चाहेंगे। हालांकि इस मामले में आपकी राय का विरोध करने वालों के साथ विवाद करने की संभावना है, इसलिए जितना हो सके सामने वालों की राय का भी सम्मान करने की कोशिश करें। पितृ स्थान का 9वां घर राहु गोचर के कारण आपको आपके पिता के कारण लाभ होने की संभावना है और साथ ही उनके साथ मनमुटाव भी होने की संभावना है। राहु हमारे अंदर अहंकार को प्रेरित करता है इसलिए इस समय आप अपने पिता जी या गुरुओं के साथ बात करते समय जितना हो सके विनम्र रहना अच्छा है। 3वें घर में केतु गोचर कुछ अनुकूल परिणाम देता है। विशेष रूप से आपके अंदर उत्साह बढ़ना और नए-नए चीजों को खोजने या करने के कामों को और अधिक नया तरीके से करने का विचार अधिक बढ़ता है। हालांकि इसके कारण आप समय बर्बाद कर सकते हैं या बाकी लोगों के साथ संचार कम कर सकते हैं। आपके परिवार के सदस्यों के लिए, विशेष रूप से आपके भाई-बहनों के साथ गलतफहमियां होना या वे आपको समझ नहीं रहे हैं ऐसा दुख होता है। इसके कारण सभी से दूर एकांत में रहना चाहिए ऐसा विचार अधिक बढ़ता है। कुछ बार जब आप जो प्रयास करते हैं वह सही परिणाम नहीं देता है तो निराशा के शिकार न होकर फिर से प्रयास करना अच्छा है। क्योंकि केतु निराशा बढ़ाने वाला ग्रह है इसलिए उस ग्रह के जादू में न पड़ने के लिए लगातार हमें खुद को प्रेरित करते हुए उत्साह से रहना होगा।

सिंह राशि

सिंह राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 8वें घर में और केतु 2वें घर में गोचर करेंगे।

8वें घर में राहु गोचर के दौरान आप अधिकतर दूसरों के बारे में सोचते रहेंगे और जो किसी को भी नहीं पता है, उसे जानना चाहते हैं। इसके अलावा, दिखावे के लिए अधिक पैसा खर्च करने की संभावना भी है, इसलिए इस समय जितना हो सके पैसे को आसानी से उपलब्ध न होने दें। इससे आप अनावश्यक खर्चों को कम करने में सक्षम होंगे। आठवां स्थान अपमान और कर्ज के लिए भी कारक स्थान है, इसलिए इन दोनों मामलों में आपको सावधान रहना चाहिए। इस समय अचानक आर्थिक लाभ या विरासत में संपत्ति मिलने की स्थिति भी हो सकती है, लेकिन इनके साथ ही नुकसान और दुर्घटनाएं भी होने की संभावना है। इस समय जितना हो सके अहंकार में न पड़ते हुए सोच-समझकर काम करें, तो आप खुद को अनावश्यक समस्याओं से बचा सकते हैं। 2वें घर में केतु गोचर के कारण परिवार में कुछ समस्याएं आने की संभावना है। इसके कारण आप अपने घर से दूर रहना चाहते हैं। आपके भावनाओं को, आपके दर्द को आपके परिवार के सदस्य सही ढंग से समझ नहीं पा रहे हैं, इस सोच के कारण मानसिक रूप से अकेलापन महसूस करेंगे। हालांकि, केतु आत्म-हीनता का कारण है, इसलिए इस समय आने वाले विचार सभी केवल अस्थायी हैं और ये ज्यादातर अनुमान हैं, इसे पहचानने में सक्षम हो सकते हैं, तो आप पीड़ा से बाहर निकल सकते हैं। इस समय अपने बोलने के तरीके और खाने की आदतों के बारे में सावधान रहना अच्छा है। क्योंकि इनके कारण आप समस्याओं का सामना कर सकते हैं। कम बोलते हुए, नियमित भोजन करते हुए और अधिक से अधिक आप जो काम कर रहे हैं, उस पर ध्यान केंद्रित करना अच्छा है।

कन्या राशि

कन्या राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 7वें घर में और केतु 1वें घर में गोचर करेंगे।

7वें घर में राहु गोचर के दौरान वैवाहिक जीवन में कुछ समस्याएं आ सकती हैं। आपके और आपके जीवनसाथी के बीच अनावश्यक बातों के कारण बहस होने की संभावना है। एक-दूसरे से ज्यादातर श्रेष्ठता हासिल करने की भावना बढ़ जाएगी। इस समय जितना हो सके सामने वाले की बात को महत्व देने की कोशिश करने से ज्यादातर समस्याएं शुरुआत में ही खत्म हो जाती हैं। अहंकार को न लादकर आप दोनों के बीच तालमेल रहने से आपकी पारिवारिक समस्याएं सुलझ जाती हैं। व्यवसाय में भी इस समय आपके भागीदार के साथ समस्याएं आने की संभावना है। विशेष रूप से निर्णय लेने में एक-दूसरे से ज्यादा श्रेष्ठता हासिल करने की भावना, अपनी बात ही सही रहेगी की जिद बढ़ने से साझेदारी में समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना है। इस समय आपके शुभचिंतकों की सलाह-मशविरे के कारण इन समस्याओं से बाहर निकल सकते हैं। राहु के द्वारा दिए जाने वाले बुरे प्रभाव को कम करने के लिए दुर्गा आराधना करना या राहु पूजा करना अच्छा है। 1वें घर में केतु का गोचर कुछ मामलों में अच्छीता और कुछ मामलों में बुराई को बढ़ाता है। आध्यात्मिक और व्यक्तिगत रूप से आपके अंदर छिपी हुई कमियों को दूर करने के अवसर इस समय मिलते हैं। कुछ मामलों में आपको मानसिक रूप से अकेलापन, निराशा का अनुभव होने की संभावना है। इस समय आप सोच से ज्यादा कार्य को प्राथमिकता देने और दूसरों को सुधारने की सोच को कम करने से आप मानसिक समस्याओं से बाहर निकल सकते हैं। इसके अलावा इस समय आपको अपनी और अपने प्रियजनों की सेहत को लेकर अधिक चिंता होने लगती है। वास्तव में कोई समस्या नहीं होने पर भी किसी न किसी समस्या का डर आपके अंदर बढ़ जाता है। ऐसे मामलों में आपको किसी न किसी काम में व्यस्त रहने से आप इस समस्या से बाहर निकल सकते हैं। साथ ही गणेश आराधना करना, केतु पूजा करना भी आपके द्वारा दी जाने वाली बुरी फल से बाहर निकलने में मदद करता है।

तुला राशि

तुला राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 6वें घर में और केतु 12वें घर में गोचर करेंगे।

छठे घर में राहु के गोचर के कारण इस समय आप अपने शत्रुओं पर और प्रतिस्पर्धियों में जीत हासिल करेंगे। कोर्ट केस या अन्य विवाद आपके पक्ष में हल होंगे। आपका स्वास्थ्य बेहतर होगा। इसके अलावा आर्थिक रूप से भी यह समय आपके लिए अनुकूल रहेगा। विशेष रूप से आपके पास आने वाले पैसे वापस आने या लोन मिलने से आर्थिक समस्याएं कम हो जाएंगी। हालांकि, इस समय अत्यधिक उत्साह में न पड़कर रहना अच्छा है। क्योंकि आपका अत्यधिक उत्साह आपको व्यसनों का गुलाम बना सकता है या आपमें लापरवाही को बढ़ा सकता है। साथ ही अपने आहार की आदतों के मामले में भी इस समय सावधान रहना अच्छा है। इस समय आपमें सेवाभाव अधिक बढ़ जाएगा। 12वें घर में केतु के गोचर से आपमें आध्यात्मिकता बढ़ेगी। आप इस समय एकांत में रहना चाहेंगे या आध्यात्मिक यात्राएं अधिक करना चाहेंगे। कभी-कभी आपमें निराशा, अकेलापन बढ़ सकता है। और कभी-कभी बहुत उत्साहित होते हैं। यह समय आपमें मौजूद आध्यात्मिक रुचि को बढ़ाने और धार्मिक कार्यों को करने के लिए आपको अवसर प्रदान करता है। साथ ही इस समय विदेशों या दूर के क्षेत्रों में जाने का मौका हो सकता है।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वालों के लिए इस महीने की 30 तारीख से राहु 5वें घर में और केतु 11वें घर में गोचर करेंगे।

5वें घर में राहु के गोचर के कारण इस समय आपके प्रेम संबंधों में और रचनात्मकता के मामले में अनुकूल परिणाम मिलेंगे। इस समय प्रेम फलित होने या पसंदीदा व्यक्ति से विवाह होने की संभावना है। इस समय अगर आप कला या रचनात्मक क्षेत्र में हैं तो यह आपके लिए अच्छा समय होगा। नए विचार सफल होंगे और आप लोगों की प्रशंसा पाएंगे। हालांकि, कभी-कभी आपके विचार या प्रेम संबंधों में आपकी हरकतें दूसरों को परेशान कर सकती हैं, इसलिए अतिउत्साह में न पड़कर दूसरों की भावनाओं को भी समझने की कोशिश करें। इस समय आपको अपने बच्चों के मामले में लापरवाही के रवैया में न जाकर उनके प्रति पर्याप्त ध्यान दिखाना होगा। क्योंकि आपकी लापरवाही के कारण उनकी पढ़ाई या स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। 11वें घर में केतु आपके लिए लाभ तो देता है, लेकिन किसी न किसी बात में असंतोष आपको परेशान करता रहता है। आपको लगेगा कि आपके द्वारा किए गए प्रयासों या काम के अनुरूप परिणाम नहीं मिल रहे हैं। यह आपकी उपलब्धियों या सफलताओं को पूरी तरह से महसूस करने से रोकेगा। इस समय आपके भाई-बहनों या दोस्तों के साथ मतभेद होने की संभावना है। आपके अंदर बनी अकेलापन की भावना उन्हें आपसे दूर ले जाएगी। साथ ही आप जो हासिल करना चाहते हैं, उसके लिए अत्यधिक प्रयास करने के कारण भी आप अपने प्रियजनों से दूर हो सकते हैं। इस समय जितना हो सके व्यक्तिगत मामलों के साथ-साथ पारिवारिक जीवन को भी उचित प्राथमिकता देना, और हासिल करने के लिए संतुष्टि महसूस करना, आपके अंदर बनने वाली मानसिक समस्याओं को दूर करेगा।

धनु राशि

धनु राशि वालों के लिए इस महीने की 30 वीं तारीख से राहु 4 वें घर में और केतु 10 वें घर में भ्रमण करेंगे।

पांचवें घर में राहु का गोचर कुछ सामान्य परिणाम देता है। विशेष रूप से शारीरिक रूप से अत्यधिक परिश्रम करना पड़ता है और परिवार में उचित सहयोग नहीं होने के कारण अज्ञात उत्तेजना, चिंता से ग्रस्त रहते हैं। वाहनों के मामले में, लेकिन संपत्ति के मामले में, आप में एक प्रकार का लालच बढ़ जाता है। इसके कारण उन्हें प्राप्त करने के लिए अधिक परिश्रम करते हैं। इस समय आपके परिवार के सदस्यों के साथ, विशेष रूप से आपकी माँ के साथ समस्याएं होने की संभावना है। आप जिस स्थान पर रहते हैं, वहां परिवर्तन होना या विदेशों की यात्रा करनी पड़ सकती है। बिना आराम के अधिक परिश्रम करने के कारण रीढ़ और पेट से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं आपको परेशान करती हैं। इस समय यथासंभव आराम को प्राथमिकता देना और साथ ही मानसिक रूप से प्रसन्न रहने का प्रयास करने से स्वास्थ्य समस्याएं आपको परेशान नहीं करती हैं। दसवें घर में केतु का गोचर व्यवसाय के मामले में असंतोष को बढ़ाता है। आप जो काम कर रहे हैं उसमें संतुष्टि नहीं मिल रही है और अभी भी कुछ हासिल करना चाहते हैं, जिससे आप अपना व्यवसाय बदलना चाहते हैं। हालांकि, आपकी स्थिति के कारण इसे बदल नहीं पाना या आपके द्वारा सोचे गए स्तर पर नौकरी नहीं मिल पाना, लेकिन आप असंतोष के शिकार हो जाते हैं। इसके कारण वर्तमान में कर रहे व्यवसाय में भी वरिष्ठ अधिकारियों के क्रोध का शिकार होते हैं। इसके अलावा, आप जो काम कर रहे हैं उसके लिए उचित पहचान नहीं मिल रही है, इसलिए असहिष्णुता से ग्रस्त हैं। आपके विचारों को, जो काम करते हैं, किसी ने पहचाना नहीं है, इसलिए आपके अंदर खुद को दुखी होने की संभावना है। इस समय यथासंभव व्यवसाय के मामले में किसी भी जल्दबाजी के फैसले लेने से बचना ही अच्छा है।

मकर राशि

मकर राशि वालों के लिए इस महीने की 30 वीं तारीख से राहु 3 वें घर में और केतु 9 वें घर में भ्रमण करेंगे।

तीसरे घर में राहु का गोचर आपके लिए अनुकूल परिणाम देता है। विशेष रूप से आप में साहस को बढ़ाता है। पिछले कुछ समय से चल रही मानसिक चिंताएं दूर हो जाती हैं। नए कुछ भी हासिल करने की लगन, स्फूर्ति बढ़ती है। आपके विचार आपको सफलताएं प्रदान करते हैं। इसके अलावा आपके भाई-बहनों की वजह से या यात्राओं की वजह से आपको अनपेक्षित लाभ मिलते हैं। आप अगर कम्युनिकेशन या लेखन व्यवसायों में हैं तो यह समय आपके लिए बहुत अच्छा साथ देता है। साथ ही सेल्स और परिवहन क्षेत्र में भी यह समय अनुकूल रहता है। आप जो व्यवसाय-व्यापार करते हैं उसमें सफलताएं हासिल करते हैं। पिछले कुछ समय से आप में रहने वाली असहिष्णुता या आवेश भी कम हो जाते हैं और उत्साह से आप अपने कामों को कर पाते हैं। आपके साथ-साथ चारों को आगे बढ़ाते हैं। नौवें घर में केतु का संचार आपकी आध्यात्मिकता को बढ़ाता है और साथ ही आध्यात्मिक विषयों के प्रति एक तरह की असंतोष भी बढ़ता है। आपके द्वारा किए जाने वाले पूजा-पाठ या आध्यात्मिक कार्यक्रम आपको सही परिणाम नहीं दे रहे हैं, ऐसा एहसास आप में अधिक होता है। इसके कारण और भी अधिक समय आध्यात्मिक कार्यक्रमों के लिए आवंटित करना चाहेंगे लेकिन आपके पास रहने वाला समय पर्याप्त नहीं होने के कारण असंतोष को प्राप्त होते हैं। आपके पिताजी या गुरुओं के संबंध में आप उनके प्रति दूर होती जा रही हैं, ऐसा एहसास अधिक होता है। इसके अलावा उनकी सेहत के संबंध में भी आपको कुछ चिंता होती है।

कुंभ राशि

कुंभ राशि वालों के लिए इस महीने की 30 वीं तारीख से राहु 2 वें घर में और केतु 8 वें घर में भ्रमण करेंगे।

दूसरे घर में राहु का गोचर होने से आप में आर्थिक संबंधी मामलों के प्रति रुचि अधिक हो जाती है। आप कैसे भी करके अधिक धन कमाना चाहते हैं और आर्थिक रूप से स्थिर स्थिति बनाना चाहते हैं, ऐसा विचार अधिक बढ़ता है। इसके कारण आप धन कमाने के लिए तरह-तरह के तरीके अपनाने की संभावना होती है। इसके कारण आप अपने परिवार के प्रति या स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही का रवैया रखते हैं। इसके कारण आपको अपने परिवार के सदस्यों से मनमुटाव बढ़ने या आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं आने की संभावना होती है। विशेष रूप से मुंह, दांत, आंखों से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं इस समय आने की संभावना होती है। आपके बोलने का तरीका भी अहंकारीपूर्ण होने के कारण आप अपने परिवार के सदस्यों के साथ-साथ अपने प्रियजनों को भी दूर कर सकते हैं। इस समय में यथासंभव कमाई के साथ-साथ परिवार को भी उचित मात्रा में समय देने से आप परेशानी से बच सकते हैं। आठवें घर में केतु का संचार आप में लापरवाही को बढ़ाता है। इसके अलावा स्वास्थ्य के मामले में भी इस समय सावधान रहने की सलाह देता है। विशेष रूप से आप लापरवाही के कारण करने वाले गलतियां आपकी स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकती हैं। वाहन चलाते समय सावधानी बरतना और खान-पान के मामले में सावधानी बरतना आवश्यक है। आपके द्वारा किए जाने वाले गलतियां आपके साथ-साथ आपके परिवार के सदस्यों को भी परेशानी का कारण बनने की संभावना होती है। इस समय में आपके जीवनसाथी के स्वास्थ्य के मामले में भी सावधानियां आवश्यक हैं। इस समय में कल्पनाओं, विचारों की तुलना में व्यवहार को प्राथमिकता देना अच्छा है।

मीन राशि

मीन राशि वालों के लिए इस महीने की 30 वीं तारीख से राहु 1 वें घर में और केतु 7 वें घर में भ्रमण करेंगे।

पहले घर में राहु का गोचर होने से आपके जीवन में और मानसिक स्थिति में कुछ बदलाव होते हैं। विशेष रूप से दूसरों को नज़रअंदाज़ करने वाली मानसिकता आदत बन जाती है। आप बाकी चीजों को छोड़कर आपके द्वारा सोचे गए कार्यों को करने के लिए, आपके लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए अधिक मेहनत करेंगे। इसके कारण आप अपने परिवार और स्वास्थ्य को नज़रअंदाज़ करने की संभावना है। आप अन्य लोगों की तुलना में विशेष होना चाहते हैं और सभी से आगे रहना चाहते हैं, ऐसा विचार आप में बढ़ता है। अतीत में आपके जीवन में घटी घटनाएं आपको इस बारे में प्रेरित करती हैं। हालांकि बिना रुके काम करने से आपकी सेहत पर कुछ असर पड़ने की संभावना है। विशेष रूप से नसों, गर्दन और रीढ़ की हड्डी से संबंधित स्वास्थ्य समस्याएं इस समय आपको परेशान कर सकती हैं। साथ ही आपके जीवनसाथी के साथ भी कुछ समस्याएं उत्पन्न होने की संभावना है। आप अपने लक्ष्यों के साथ-साथ अपने परिवार और स्वास्थ्य के लिए समय आवंटित करना अनिवार्य रूप से करना चाहिए। इसके कारण इस समय आप समस्याओं से बाहर निकल सकते हैं। सातवें घर में केतु का संचार होने से वैवाहिक जीवन में असंतोष उत्पन्न होना या समस्याएं आना होता है। आपके जीवनसाथी आपको समझ नहीं पा रहे हैं, ऐसा विचार आप में शुरू होता है। इसके कारण पति-पत्नी के बीच गलतफहमियां उत्पन्न होती हैं। दोनों ही एक-दूसरे को नज़रअंदाज़ कर रहे हैं। व्यवसाय में भी आपके व्यवसायिक भागीदार के साथ मतभेद होने की संभावना है। एक-दूसरे की बात ही सही होनी चाहिए, ऐसा भावना में रहकर व्यवसाय को नज़रअंदाज़ करने से व्यवसाय में नुकसान आने की संभावना है। कुछ मामलों में आपके व्यवसायिक भागीदार व्यवसाय से हटने की संभावना है, इसलिए इस समय अहंकार और मूर्खता में न जाकर समस्याओं को सौहार्दपूर्ण तरीके से हल करना चाहिए।

Please Note: All these predictions are based on planetary transits and Moon sign based predictions. These are just indicative only, not personalised predictions.

Astrology Articles

General Articles

English Articles

Marriage Matching

Free online Marriage Matching service in English Language.

Read More
  

Newborn Astrology

Know your Newborn Rashi, Nakshatra, doshas and Naming letters in Telugu.

Read More
  

KP Horoscope

Free KP Janmakundali (Krishnamurthy paddhatiHoroscope) with predictions in Hindi.

Read More
  

Mangal Dosha Check

Check your horoscope for Mangal dosh, find out that are you Manglik or not.

Read More
  


Time management is key to success, prioritize your tasks and make the most of every day.