Telugu panchangam for 23-Apr-2018



Panchangam in Telugu

Universal Vedic Calendar

Panchang for today

All instances of time have five characteristics viz. Tithi, Vara, Nakshatra, Yoga and Karana. These five characteristics are detailed for all days of the year in an almanac which is called as Panchanga. These characteristics are derived from the positions of Sun and Moon. Panchanga is used for knowing the five basic characteristics of time for sankalpa, locating dates for yagnyaa, yagas, vratas, Locating dates of shraddhas, locating muhurthas and look for auspicious/inauspicious timings for the use of common public.

This Panchanga darshini gives you Panchanga i.e., Today's Tithi (Lunar Day), Vara (Day), Nakshatra (Moon's Constellation), Yoga (Sun, Moon Combination), Karana (Half of Thiti), along with Moon's current Position and Chaitra Paksheeya (Lahiri) Ayanamsha. It also gives your todays Tarabalam, Chandra Balam, Ashtama Chandra, Ghata Vara, Rahukala, Gulika, Yamaganda Timings, varjyam, Durmhurtham, Quality of Thiti, Vara, Nakshatra, Yoga, Karana, Sun rise, Moon rise timings and Rashi, nakshatra change timings, Chowghati/ Gouri panchang, Hora timings, Muhurta timings along with day guide and predictions based on tarabalam in Telugu Language.


Enter Birth Details

Date (DD/MMM/YYYY format)
Place
Longitude/ Latitude
Timezone


Please share https://www.onlinejyotish.com on your Facebook, Whatsapp, Twitter, GooglePlus and other social media networks. Your support will help us to give you more free Astrology Services. Copy https://www.onlinejyotish.com/telugu-astrology/telugu-panchangam.php and share it with your friends. Thanks.

पंचांग क्या है?
पंचांग दो शब्दों का एक संयोजन है पंचा + एंगा पंच का अर्थ पांच और अंग का अर्थ अंग है। हिंदू ज्योतिष के अनुसार समय पांच अंगों में विभाजित है। तिथी, वारा, नक्षत्र, योग और कराना। त्रिठी सूर्य और चंद्रमा के बीच की दूरी है सूर्य और चंद्रमा के बीच लगभग 12-डिग्री का अंतर होगा दोनों अमावस्या पर एक ही डिग्री के लिए आएंगे और दोनों पूर्णिमा पर सटीक विरोध में आएंगे। वारा का अर्थ सप्ताह का दिन है। वैदिक सप्ताह का दिन सूर्योदय से शुरू होता है और अगले दिन सूर्योदय के साथ समाप्त होता है। नक्षत्र नक्षत्र का अर्थ है। राशि चक्र को 27 भागों में बांटा गया, जिसे नक्षत्र कहा जाता है। चांद लगभग एक दिन में नक्षत्र में जाता है। प्रत्येक नक्षत्र में अलग-अलग संकेत हैं योग भी सूर्य और चंद्रमा के बीच की दूरी है 27 योगा हैं कराना एक तिथि का आधा हिस्सा है। 11 करण हैं पंचांग भी दैनिक ग्रहों की गति के बारे में बताता है। पंंचांग की मदद से विवाह, गृह वार्मिंग इत्यादि शुभ घटनाओं के लिए एक अच्छा समय चुन सकता है। भारतीय संस्कृति में इसकी बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है।
कैसे पंचांग हमें मदद करता है?
जैसा कि मैंने ऊपर कहा, मुहूर्त का चयन करना और एक दिन का अच्छा और बुरा होना आवश्यक है। पंचांग में दिए गए सभी विवरण राशी और नक्षत्रों पर चंद्रमा के पारगमन पर आधारित हैं। यह यह भी बताता है कि ऐसा करने के लिए बेहतर और समस्या मुक्त जीवन हो सकता है।


Lalkitab reading

Want to know what Lalkitab telling about you and find suitable remedies..
Read more...

  

Free newborn report

Know your new born rashi, nakshatra, janma nama, suitable letters for naming etc with this unique free service.
Read more...

  

Marriage Prospects

Get detailed Marriage prospects report including probable timing of marriage and remedies for doshas.
Read more...